मानसिकता पर वास्तविकता की बजाय भावनाएं क्यों प्रभावी होती है  ?

जब चीजें हमारे अनुकूल तथा हमारी मान्यताओं को चुनौती नहीं देती हैं तो वह जानी पहचानी या परिचित महसूस होती है । हम अपने आस […]